बीएमडब्ल्यू कंपनी का मालिक कौन है

आज हम आपको बताने जा रहे है के बीएमडब्ल्यू कंपनी का मालिक कौन है और बीएमडब्ल्यू कंपनी का इतिहास के बारे में पूरी जानकारी देंगे तो चलिए आज का ये आर्टिकल सुरु करते है

बीएमडब्ल्यू कंपनी का मालिक कौन है

बीएमडब्ल्यू के कम्पनी के मालिक का नाम Karl Friedrich Rapp हैं इनका जन्म 24 सितंबर 1882 को जर्मनी में हुआ था

आज के समय में महंगी गाड़ियों में घूमने फिरने का शोक हर कोई रखता है हर कोई चाहता है कि उसके पास भी एक BMW कार हो BMW कंपनी के बारे में हर वो इंसान जानता है जो महंगें मोटरसाइकिल ओर महंगी गाड़ियों में घूमने का शोक रखता है

BMW कंपनी की कार को खरीदना किसी आम इंसान के बस की बात नहीं है अगर आप BMW कंपनी की कार खरीदने के बारे में सोच रहे हैं ओर BMW कंपनी के बारे में जानकारी चाहते हैं तो आप हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें

बीएमडब्ल्यू किस देश की कंपनी है ?

बीएमडब्ल्यू Munich Germany की कंपनी है

बीएमडब्ल्यू के सीईओ कोन है ?

भारत में BMW के सीईओ Vikram Pawah है और जर्मन में BMW के सीईओ Harald Krueger है

बीएमडब्ल्यू का फुल फॉर्म क्या है – बीएमडब्ल्यू का मतलब क्या होता है

बीएमडबल्यू का फूल फॉर्म Bayerische Motoren Werke Aktiengesellschaft है

बीएमडब्ल्यू कंपनी की शुरुआत कब हुई थी ?

BMW कंपनी की शुरुआत 7 मार्च 1916 को दो ओर कम्पनियों को साथ मिलाने के बाद हुई Bayerische Flugeugerke ओर Automobilwerk Eisenach ओर फिर Karl Friedrich Rapp ने इसका नाम Bavarian Motor Work रखा गया जिसको हम सरल भाषा में BMW के नाम से जानाते है BMW की शुरुआत Karl Rapp, Gustav Otto, Camillo Castiglioni और Franz Josef Popp ने मिलकर की थी

बीएमडब्ल्यू का असली नाम क्या है ?

बीएमडबल्यू का असली नाम Bayerische Motoren Werke हैं सरल भाषा में BMW कहते हैं

बीएमडब्ल्यू का पूरा नाम क्या है?

Bayerische Motoren Werke हैं यह इंग्लिश नाम हैं जिसे हम BMW के नाम से जानते हैं और जर्मन में Bayerische Motorenwerke GMBH के नाम से जाना जाता है

बीएमडब्ल्यू भारत में किस वर्ष में आई थी ?

बीएमडब्ल्यू ने भारत में साल 2006 में अपना कारोबार की शुरुआत की थी । साल 2007 में BMW कंपनी ने चेन्नई में अपने पहले मैनुफैक्चरिंग यूनिट की स्थापना की

बीएमडब्ल्यू कार की कीमत कितनी है – भारत में बीएमडब्ल्यू कार कितने की आती है?

BMW के भारत में 13 मॉडल आते है । गाडी का भाव तो आप BMW का कौनसा मॉडल लेते है उसपे आधारित है पर BMW की किम्मत 42.73 लाख से शुरू हो के 2.75 करोड़ तक जाती है

BMW full From in india – बीएमडब्ल्यू का फुल फॉर्म क्या है?

Bayerische Motoren Werke हैं जिसे लोग सरल भाषा में BMW कहते हैं BMW एक महंगे मोटरसाइकिल और कार बनाने वाली कंपनी है

बीएमडब्ल्यू कंपनी का इतिहास

BMW के कम्पनी के मालिक का नाम Karl Friedrich Rapp हैं इनका जन्म 24 सितंबर 1882 को जर्मनी में हुआ स्कूल की पढ़ाई खत्म होने के बाद इन्होंने मेकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की और 1918 मैं Karl Rapp Motorenwerke Gmbh नाम की कंपनी की शुरुआत की आज से करीब 101 साल पहले उस समय इस कंपनी में ऐअर क्राफ्ट ओर वाहनों के इंजन बनाए जाते थे

कूछ साल बाद वर्ल्ड वार शुरू हो गया वर्ल्ड वार शुरू होने पर एअर क्राफ्ट के इंजन की डीमांड ज्यादा बढ़ गई डीमांड को पूरा करने के लिए इन्हें ने 7 मार्च 1916 को दो ओर कम्पनियों को साथ मिला लिया Bayerische Flugeugerke ओर Automobilwerk Eisenach ओर उसका नाम Bavarian Motor Work रखा गया जिसको BMW के नाम से जाना जाता है


BMW का पहला प्रोडक्ट BMW 3A एयरक्राफ्ट इंजन था यह इंजन आर्मी को बहुत पसंद आया
वर्ल्डवार के दौरान आर्मी के तरफ से एयरक्राफ्ट इंजन बनाने का इनको बहुत बड़ा ऑर्डर मिला लेकिन सन 1918 में वर्ल्डवार खत्म होने के बाद एयरक्राफ्ट इंजन बनाना बंद कर ना पड़ा और फिर BMW ने खेतों में यूज होने वाले पंप और ट्रक बस के इंजन बनाना शुरु कर दिया और फिर 1932 में BMW ने मोटरसाइकिल को बनाना शुरू कर दिया

BMW का पहला मोटरसाइकिल BMW R32 मोडल था और फिर इसके बाद 1928 में BMW ने Automobile Began कंपनी को खरीद कर कार बनाने की शुरूआत कर दी BMW की सबसे पहली कार BMW 3/15 ओर उसके बाद 1939 मैं फिर से वर्ल्ड वार शुरू हो गया इसी दौरान BMW ने फिर से ऐअर क्राफ्ट के इंजन को बनाना शुरू कर दिया और युद्ध के दौरान इनकी कई फेक्ट्री पर बमबारी होने से फेक्ट्री का बहुत नुक्सान हुआ और सरकार ने BMW कंपनी को कार , मोटरसाइकिल , इंजन बनाने पर रोक लगा दी

ओर फिर BMW ने साइकिल , ओर रसोईघर का सामान बनाना शुरू कर दिया और कुछ सालों बाद 1947 में फिर से मोटरसाइकिल बनाने का परमिशन मिल गया और फिर 1948 में BMW ने R 24 मोडल पेश किया और उसके बाद BMW को कार बनाने का परमिशन 1951 में मिल गया और BMW ने BMW 501 मोडल की कार मार्केट में लॉन्च कर दी BMW की यह कार बहुत महंगी कार होने की वजह से हर किसी के खरीदने की बस की बात नहीं थी

जिस कारण लोग ज्यादातर BMW के मोटरसाइकिल को ज्यादा महत्व देते थे BMW की कार की बिक्री कम होने के कारण BMW कंपनी को बहुत नुक्सान हो रहा था 1955 तक BMW की सिर्फ दस हज़ार कार की बिक्री हुई थी और 1960 तक BMW की बिक्री और ज्यादा कम होने के कारण BMW कंपनी बिकने के कगार पर पहुंच गई और फिर BMW ने 1961 में स्पोर्ट्स कार लांच की जो लोगों को बहुत पसंद आई और BMW कंपनी को फायदा होना शुरू हो गया

इसी तरह BMW ने और भी कई स्पोर्ट्स कार लांच की और लोगों ने BMW कार को बहुत पसंद किया और इसी तरह BMW ने 1994 मैं ब्रिटिश रोवर को खरीद लिया लेकिन इससे BMW को कूछ फायदा ना होने के कारण BMW ने इसे फोर्ड कंपनी को बेच दिया और फिर 1998 में BMW ने Rolls-Royce की कंपनी को खरीदा तब से लेकर आज तक BMW ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और आज के समय में BMW की कार अमीर लोगों की खास पसंद है

आज हमने आपको बताया के बीएमडब्ल्यू कंपनी का मालिक कौन है और बीएमडब्ल्यू कंपनी का इतिहास के बारे में बताया उमीद है आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा