Ford ka malik kaun hai

आज हम आपको इस आर्टिकल मे बताएगे की Ford ka malik kaun hai और ford kis desh ki company hai और इसके बारे मे आपको पूरी जानकारी देंगे तो चलिए आज का ये आर्टिकल सुरू करते है

Ford ka malik kaun hai

फोर्ड कंपनी का मालिक का नाम हेनरी फोर्ड है और ये अमेरिका देश के रहने वाले है इनका जनम 30 जुलाई 1863 मे अमेरिका के मिशिगन स्टेट के स्प्रिंगवेल टाउन मे हुआ था


फोर्ड कंपनी का मालिक कौन है
हेनरी फोर्ड – फोर्ड कंपनी के मालिक

“हेनरी फोर्ड ने June 16, 1903 मे फोर्ड कंपनी की सुरुवात की थी”

— Henry Ford, Founder of Ford Company


Clara Jane Bryant wife of henry ford
Clara Jane Bryant Ford – Wife of Henry Ford

क्लारा जेन ब्रायंट फोर्ड (Clara Jane Bryant Ford) हेनरी फोर्ड की पत्नी थीं इनका जनम April 11, 1866 मे हुआ था वह एक सक्रिय मताधिकारवादी थीं और उन्हें मिशिगन महिला हॉल ऑफ फ़ेम में शामिल किया गया था

जनम: April 11, 1866

मौत: September 29, 1950

Clara Jane Bryant Ford — , Wife of Henry Ford

Edsel Bryant Ford - Son of Henry Ford
Edsel Bryant Ford – Son of Henry Ford

Edsel Bryant Ford clara Jane Bryant और Henry Ford के बेटे है और इनका जनम November 6, 1893 अमेरिका के मिशिगन स्टेट के डेट्राइट शहर मे हुआ था और ये 1919 से 1943 तक फोर्ड कंपनी के प्रेसीडेंट रहे थे

जनम: November 6, 1893

मौत: May 26, 1943

— Edsel Bryant Ford – , Son of Henry Ford


Ford kis desh ki company hai

फोर्ड मोटर कंपनी एक अमेरिकन कंपनी है और इसका मुख्यालय अमेरिका के Michigan स्टेट के Dearborn शहर मे सथित है

Ford company history in hindi

खेत में चलने वाले फोर्ड ट्रैक्टर या फिर सड़क पर दौड़ती फोर्ड कंपनी की फोर्ड एंडेवर को तो आप ने अक्सर ही देखा होगा लेकिन किया आप को पता है फोर्ड मोटर कंपनी को यहां तक पहुंचने में बहुत सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ा है आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में फोर्ड मोटर कंपनी की हिस्ट्री की जानकारी देने वाले हैं

फोर्ड कंपनी का नाम केसे पड़ा असल में हेनरी फोर्ड एक व्यक्ति नाम हैं जिसने अपने नाम से फोर्ड कंपनी की शुरुआत की फोर्ड मोटर कंपनी एक अमेरिकन कंपनी है हेनरी फोर्ड का जन्म 30 जुलाई 1863 को अमेरिका के ग्रीनफील्ड नाम के शहर में हुआ था
हेनरी फोर्ड के पिता का नाम विलएम फोर्ड जो एक किसान थे

हेनरी फोर्ड को बचपन से ही मेकेनिक बनने का शौक था हेनरी फोर्ड एक ऐसा वाहन बनाना चाहते थे जो बिना घोड़े के चल सके ऐसा नहीं है के उस समय गाड़ीआ नहीं थी लेकिन वह गाड़ी को खरीदना हर किसी के बस की बात नहीं थी हेनरी फोर्ड ऐसी गाड़ी बनाना चाहते थे जिससे आम आदमी भी खरीद सके हेनरी फोर्ड ने एक स्ट्रीम इंजन कंपनी में काम किरना शुरू किया हेनरी फोर्ड को यह काम करने मैं बहुत मजा आता था

हेनरी फोर्ड को जो सोलरी मिलती वह सारी सैलरी गाड़ी बनाने के प्रयोग मैं खर्च कर देते थे कई प्रयासों के बाद हेनरी फोर्ड ने अपनी पहली कार 1896 मैं बनाई इस कार को लोगों के द्वारा बहुत पसंद किया गया कुछ दिन बाद हेनरी फोर्ड ने इस कार को बेंच दीया और कुछ और पैसे मिला कर 1899 मैं एक छोटी सी कंपनी खोली कंपनी का नाम डेट्रॉइट ऑटो मोबाइल रखा गया

इस कंपनी में 25 कारें को भी बना कर बेचा लेकिन कुछ समय बाद इस कंपनी को बंद करना पड़ा आगे चलकर हेनरी फोर्ड ने फिर से कंपनी खोलने का निर्णय लिया और 30 नवंबर 1903 को अपने दोस्तों के साथ मिलकर हेनरी फोर्ड नाम की कंपनी खोली लेकिन कुछ समय बाद इस कंपनी को भी बंद करना पड़ा

हार ना मानते हुए हेनरी फोर्ड ने 16 जून 1903 को फोर्ड नाम की कंपनी खोली इस कंपनी का पहला कार मोडल 999 था ओर सबसे ज्यादा बिकने वाली टी मोडल कार जिसे 1909 मैं लोंच किया गया था इस के बाद फोर्ड कंपनी ने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा आज के समय में फोर्ड कंपनी के ट्रेक्टर , कार , एसयूवी , स्पोर्ट्स कार और इसके इलावा अन्य कई वहान बनाने का काम करती है

हेनरी फोर्ड का जन्म कब हुआ था

हेनरी फोर्ड का जन्म 30 जुलाई 1863 को अमेरिका के ग्रीनफील्ड नाम के शहर में हुआ था

हेनरी फोर्ड की मौत कब हुई थी ?

हेनरी फोर्ड की मौत 7 अप्रैल 1947 को हुई थी

फोर्ड मोटर्स कंपनी भारत कब आई

फोर्ड मोटर्स कंपनी ने भारत में 1969 मैं एस्कॉर्ट्स (Escort ) कंपनी के साथ एक समझौता किया के जिसके तहत फोर्ड कंपनी भारत में वाहनों को बनाना शुरू किया 1971 मैं फोर्ड कंपनी का पहला फोर्ड 3000 मोंडल ट्रेक्टर एस्कॉर्ट्स कंपनी के प्लांट से बन कर निकाला गया

पहले फोर्ड कंपनी अपने पार्ट को एस्कॉर्ट्स कंपनी के प्लांट में भेजती थी और वहां पर वाहनों को तैयार किया जाता था उस के बाद एस्कार्ट्स कंपनी में ही फोर्ड कंपनी के सारे पार्ट बनाने शुरू कर दिये

इस के बाद आगे चलकर 1986 मैं फोर्ड कंपनी न्यू हॉलैंड कंपनी को खरीद लेते हैं जिससे फोर्ड कंपनी का निर्माण होता है

जिससे भारत में भी फोर्ड कंपनी का कारोबार और भी अच्छा चलने लगा 1991 मैं फोर्ड कंपनी को बेचने के बारे में विचार किया गया और 1992 मैं फोर्ड कंपनी को फिएट ( Fiat ) कंपनी ने खरीदा

फोर्ड कंपनी की सबसे महंगी कार कोन सी है

फोर्ड कंपनी की सबसे महंगी कार कोन सी है
Ford GT Supercar – Ford Most Expensive Car

फोर्ड कंपनी की सबसे महंगी कार Ford GT Supercar है जिसकी कीमत तकरीबन $400,000 अमेरिकन डॉलर है जो की इंडिया मे तकरीबन 9 करोड़ रुपए करीब है

Engine CC3,497 CC
Engine DetailTwin Turbocharged and Intercooled DOHC 24 Valve V6
Engine Cylinders6 Cylinders
TOP Speed348 Kmph
Gears7 Speed Dual Automatic Clutch
Maximum Power647 HP (@6,250 RPM)
Maximum Torque745.5 Nm (@5,900 RPM)
Kerb Weight1,474 Kilogram

Capacity

Doors2 Doors
Number of Seat Row1 Rows
Seats2 Seats

Performance & Mileage

0-1002.9 Second
0-20012.3 Second
0-30044.3 Second

Mileage

Mileage in City4.68 Kmpl (Approximately)
Mileage in Highway7.65 Kmpl (Approximately)
Mileage (Combined)5.95 Kmpl (Approximately)

फोर्ड कंपनी का मालिक कौन है?

फोर्ड कंपनी का मालिक हेनरी फोर्ड है

फोर्ड कंपनी किस देश की है?

फोर्ड मोटर कंपनी एक अमेरिकन कंपनी है और इसका मुख्यालय अमेरिका के Michigan स्टेट के Dearborn शहर मे सथित है

फोर्ड कंपनी की सबसे महंगी कार कोनसी है?

फोर्ड कंपनी की सबसे महंगी कार Ford GT Supercar है जिसकी कीमत तकरीबन $400,000 अमेरिकन डॉलर है जो की इंडिया मे तकरीबन 9 करोड़ रुपए करीब है

इस आर्टिकल मे हमने आपको बताया के Ford ka malik kaun hai और ford kis desh ki company hai और इसके बारे मे आपको पूरी जानकारी दी उमीद है आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा

इन्हे भी पढ़े:- सैमसंग किस देश की कंपनी है

Pattionline.com