UPSC meaning in hindi

आज हम आपको बताने जा रहे है के upsc meaning in hindi क्या है इसके बारे मे पूरी जानकारी देंगे तो चलिए आज का ये आर्टिकल सुरू करते है

UPSC meaning in hindi

यूपीएससी भारत सरकार के लिए प्रमुख भर्ती एजेंसी है यूपीएससी अखिल भारतीय सेवाओं, केंद्रीय सेवा और संवर्ग के उम्मीदवारों के साथ-साथ भारतीय संघ के सशस्त्र बलों के लिए उम्मीदवारों की भर्ती के लिए जिम्मेदार है यूपीएससी उम्मीदवारों की भर्ती करने मे सरकार की मदद करती है जिन सेवाऊ मे सामील है 1. (IAS) भारतीय प्रशासनिक सेवा 2. (IPS) भारतीय पुलिस सेवा 3. (IFS) भारतीय विदेश सेवा 4. (IRS) भारतीय राजस्व विभाग. UPSC भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं मे से एक परीक्षा है और यह राज्य सरकार के लिए 24 सेवाओ मे भर्ती के कार्य को संभालती है

UPSC meaning in hindi यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन (Union Public Service Commission) है इसमे भारत की केंद्र और राज्य सरकार के तहत 24 सेवाओ मे भर्ती के लिए Exam होते जिसकी वजह से IAS, IPS, IFS, जैसे अफसर इसी Exam को पास करके बनते है

यूपीएससी का काम Level A और Level B के करमचारी की भर्ती करना है यूपीएससी के सथापना 1 October 1926 मे हुई थी यूपीएससी का मुख्यालय नई दिल्ली मे मे है यूपीएससी हमारे देश मे हर साल सिवल परीक्षा का आयोजन करती है UPSC की Website: https://upsc.gov.in है

UPSC full form in hindi – UPSC ka full form

यूपीएससी का फुल फॉर्म यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन (Union Public Service Commission) है इसमे संघ लोक सेवा आयोग को दो चरणों में आयोजित किया जाता है, जो प्रीलिम्स और मुख्य परीक्षा के बाद एक इंटरव्यू भी लिया जाता है

यूपीएससी क्या है पूरी जानकारी

UPSC आयोग द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा (CSE) के माध्यम से 24 विभिन्न सिविल सेवाओं के लिए UPSC के पद भरे जाते हैं लाखों उम्मीदवारों में से केवल कुछ हजार छात्र ही इस परीक्षा को सफलतापूर्वक पास कर पाते हैं हालांकि 23 अलग-अलग सिविल सेवाएं हैं, सबसे लोकप्रिय सेवाएं भारतीय प्रशासनिक सेवाएं (IAS) है

भारतीय पुलिस सेवा (IPS), भारतीय राजस्व सेवाएं (IRS) और भारतीय विदेश सेवाएं (IFS) हैं। सफल उम्मीदवारों को सेवाओं का आवंटन परीक्षा में प्राप्त रैंकिंग पर निर्भर करता है सेवा में चुने जाने के बाद एक उम्मीदवार को उस सेवा के भीतर विभिन्न पदों (अपने करियर की अवधि में) पर नियुक्त किया जाता है

कुछ मामलों को छोड़कर जहां वह किसी अन्य सेवा में दूसरे विभाग में प्रतिनियुक्ति पर जा सकता है। हर साल लाखों लोग UPSC की परीक्षा की तियारी करते है लेकिन इन मे से कुश ही इसमे से पास हो पाते है स्टुडेन्ट मे बहुत लोकप्रेय परीक्षा है UPSC के दुवारा आयोजित किए जाने वाली परीक्षा के नाम:

UPSC परीक्षा के तीन चरण होते है Prelims, Mains, और Personality Test Prelims परीक्षा लेने का चरण:

UPSC परीक्षा का पहला चरण: Prelims

PaperTypeNo of QuestionMarksDuration
General Studies IObjective1002002 Hours
General Studies II (CSAT)Objective802002 Hours

Prelims परीक्षा एक Qualifying चरण है, इस Prelims परीक्षा मे प्रपात अंक की आखरी मेरिट सूची मे नहीं गिना जाता है, इसमे General Studies II (CSAT) का पेपर प्रकृति रूप मे Qualifying  होता है, और आपको दूसरे पेपर मे पास होने के लिए 33% अंक प्रापत करने होंगे, इस परीक्षा मे नेगेटिव मार्किंग भी होती है हर गलत जवाब के लिए 1/3 अंक प्रापत अंक मे से काट लिए जाते है

UPSC पेपर का दूसरा चरण Mains:

UPSC परीक्षा मे कुल 9 पेपर होते है, स्टूडेंट्स Prelims परीक्षा मे पास होते है, वो Mains परीक्षा के लिए तियारी करते है, Mains परीक्षा मे सबी पेपर वर्णनगोंग (Descriptive Type) के होते है UPSC Mains परीक्षा 5-7 दिनों के लिए आयोजित की जाती है इसमे स्टूडेंट्स को पेपर 1 से 7 पेपर तक हर पेपर मे कम से कम 25% स्कोर हासिल करना होता है

UPSC परीक्षा का तीसरा चरण Interview

इंटरव्यू  UPSC परीक्षा का अंतिम चरण है मेरिट लिस्ट इंटरव्यू /व्ययक्तितव परीक्षण और Mains परीक्षा के आधार पे तयार की जाती है इंटरव्यू चरण के लिए आदिकतम अंक 275 है, और मेरिट सूची के लिए कुल अंक 2025 है Interviewer जनरल नालिज के प्रशन पूछकर स्टूडेंट्स के मानसिक और सामाजिक लक्षण का नियाय करता है

और कुछ गुण जो वो हर स्टुडेन्ट मे खोजते है :मानसिक सतर्कता, निर्णय करने का संतुलन, रुचि की गहराई, नेतृत्व करने के गुण, बौद्धिक और नैतिक अखंडता

UPSC और State PSC मे क्या अनतर है?

यदि आप सरकारी नौकरी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो आपने यूपीएससी या राज्य पीएससी के विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के आयोजन के बारे में सुना होगा । यूपीएससी संघ लोक सेवा आयोग के लिए खड़ा है और राज्य पीएससी का पूरा रूप राज्य लोक सेवा आयोग है

यह सही है कि यूपीएससी और स्टेट पीएससी दोनों प्रशासनिक सेवाओं के लिए उम्मीदवारों का चयन करते हैं लेकिन वे एक दूसरे से काफी अलग हैं ।

भारत के संविधान के अनुच्छेद 323 के अनुच्छेद 315 संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) और राज्य लोक सेवा आयोग (एसपीएससी) दोनों की संरचना, शक्ति, सदस्यों की नियुक्ति, सदस्यों को हटाने आदि से संबंधित है।

UPSC Vs SPSC

UPSC – संघ लोक सेवा आयोग में अन्य सदस्यों के साथ एक अध्यक्ष होता है। यूपीएससी के सभी सदस्यों की नियुक्ति भारत के राष्ट्रपति द्वारा की जाती है। अध्यक्ष के साथ-साथ यूपीएससी के अन्य सदस्यों का कार्यकाल 6 वर्ष का होता है या जब तक वे 65 की आयु प्राप्त नहीं करते (जो भी पहले हो) SPSC – यूपीएससी की तरह ही स्टेट पीएससी में अन्य सदस्यों के साथ-साथ एक चेयरमैन भी होता है।

यूपीएससी के सभी सदस्यों की नियुक्ति उस विशेष राज्य के राज्यपाल (यूपीएससी के विपरीत) द्वारा की जाती है । अध्यक्ष के साथ-साथ राज्य पीएससी के अन्य सदस्यों का कार्यकाल 6 वर्ष का होता है या जब तक वे 62 की आयु प्राप्त नहीं करते (जो भी पहले हो) अनुच्छेद 317 के अनुसार, किसी लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष या अन्य सदस्यों को भारत के राष्ट्रपति द्वारा हटाया जा सकता है।

यह निष्कासन उच्चतम न्यायालय (राष्ट्रपति द्वारा किए जा रहे संदर्भ के बाद) अनुच्छेद 145 के तहत उल्लिखित प्रक्रिया के अनुसार मामले की जांच के बाद दुर्व्यवहार के आधार पर होगा। संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) राज्य लोक सेवा आयोग (State PSC) यह आयोग संघ या केंद्र सरकार की सेवाओं के लिए उम्मीदवारों का चयन करने के लिए हर साल परीक्षाओं का आयोजन करता है 

यहां, संघ या केंद्र सरकार की सेवाओं में सभी भारतीय सेवाएं, केंद्रीय सेवाएं और केंद्र शासित प्रदेशों की सार्वजनिक सेवाएं शामिल हैं । यूपीएससी किसी भी सेवाओं के लिए संयुक्त भर्ती की योजनाएं तैयार करने और संचालन में राज्य की सहायता भी करता है जिसके लिए एक आकांक्षी को दो या अधिक राज्यों द्वारा अनुरोध किए जाने पर विशेष आवश्यकताएं होनी चाहिए 

PSC राज्य लोक सेवा आयोग केवल एक विशेष राज्य में सेवाओं के लिए उम्मीदवारों के चयन के लिए परीक्षाओं का आयोजन करता है । उदाहरण के लिए- उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग उत्तर प्रदेश कैडर के तहत सेवा में नियुक्तियों के लिए परीक्षाएं आयोजित करता है। यूपीएससी एक साल में इसके द्वारा किए गए कार्यों के संबंध में राष्ट्रपति को एक रिपोर्ट प्रदान करता है

इसके बाद राष्ट्रपति ने इस रिपोर्ट को संसद के दोनों सदनों के सामने एक ज्ञापन के साथ रखा जिसमें उन मामलों को समझाया गया जिसमें आयोग की सलाह को इसके लिए एक कारण के साथ स्वीकार नहीं किया जाता है । राज्य लोक सेवा आयोग राज्यपाल को एक साल में इसके द्वारा किए गए कार्यों के संबंध में रिपोर्ट उपलब्ध कराता है।

इसके बाद राज्यपाल ने इस रिपोर्ट को राज्य विधानमंडल के दोनों सदनों के सामने उन मामलों के बारे में समझाते हुए ज्ञापन के साथ रखा, जिनमें आयोग की सलाह को इसके लिए एक कारण के साथ स्वीकार नहीं किया जाता है । जरूरत पड़ने पर संसद यूपीएससी को अन्य अतिरिक्त कार्य दे सकती है। इसके तहत कानून द्वारा गठित किसी भी विभाग को रखकर यूपीएससी की कार्यक्षमता बढ़ाई जा सकती है।

जरूरत पड़ने पर राज्य विधानमंडल राज्य पीएससी को अन्य अतिरिक्त कार्य दे सकता है। आईटी के तहत कानून द्वारा गठित किसी भी विभाग को रखकर स्टेट पीएससी की कार्यक्षमता बढ़ाई जा सकती है यूपीएससी सिर्फ निष्पक्ष परीक्षा प्रक्रिया कराने को लेकर चिंतित है।

सेवाओं का वर्गीकरण, संवर्ग प्रबंधन, सेवा शर्त, प्रशिक्षण आदि का प्रबंधन कार्मिक, लोक शिकायत मंत्रालय और स्थानांतरण, पोस्टिंग जैसे पेंशन कार्यों के तहत कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग द्वारा किया जाता है राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित उम्मीदवारों का प्रबंधन राज्य सरकार द्वारा किया जाता है

UPSC ke liye kya qualification chahiye

बहुत लोगों के मन मे सवाल आता है के UPSC ke liye kya qualification chahiye अगर आप भी ये जानना चाहते है तो चलिए आज हम आपको इसके बारे मे भी बताएगे

UPSC ke liye kya qualification chahiye

आपका ग्रेजुएट होना जरूरी है

यूपीएससी की परीक्षा को देने के लिए आपको ग्रेजुएट होना जरूरी है यानि आपके पास किसी सब्जेक्ट मे बेेचलर की डिग्री का होना जरूरी है जो कम से कम 3 साल की होती है

बेेचलर की डिग्री

आपको बेेचलर की डिग्री इन मे से किसी एक सब्जेक्ट मे करनी होगी BAMS, BA, BSc, B Pharma, BTech, BCom, MBBS, BHMS, BSMS, B Arch, BSc Nursing, BDS, BUMS इन मे से कोई एक मे आपको डिग्री प्रापत करनी होगी

आपकी बेेचलर की डिग्री किसी भी मानता प्रापत यूनिवर्सिटी से होनी चाहिए

अगर आपने अपनी डिग्री को open university से भी किया है तब भी आप यूपीएससी के लिए अप्लाइ कर सकते है बस आपको अपनी बेेचलर की डिग्री किसी भी मानता प्रापत यूनिवर्सिटी से प्रापत होनी चाहिए

IAS Full Full Form in Hindi

IAS का फूल फॉर्म हिन्दी मे होता है -भारतय प्रशासनिक सेवा (Indian Administrative Services)

IAS officer Ka Kam Kya Hota Hai?

IAS भारत सरकार और राज्य सरकारों की स्थायी शाखा है। भारतीय प्रशासनिक सेवा 3 अखिल भारतीय सेवाओं में से एक है। (IAS) संवर्ग सरकार की नीतियों को बनाने और लागू करने के लिए जिम्मेदार है भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) भारत की एक अखिल भारतीय प्रशासनिक सिविल सेवा है। (IAS) परिवीक्षाधीन लोग LBSNAA, मसूरी में अपना प्रशिक्षण शुरू करते हैं

IAS officer ki Sallary Kitni Hoti hai?

एक IAS अधिकारी को LBSNAA में प्रशिक्षण पूरा करने के बाद सेवा में शामिल होने पर प्रति माह लगभग 130,000 रुपये मिलते हैं, हालांकि हाथ के आंकड़े जगह-जगह और पोस्टिंग की प्रकृति में भिन्न होते हैं मूल वेतन लगभग IAS अधिकारियों के लिए 56,100, एक मुख्य सचिव को प्रति माह 25,0000 रुपये का गैर-परिवर्तनीय वेतन मिलता है

Training Ke Duran IAS officer Ki kitni salary hoti hai?

IAS अधिकारियों को विशेष वेतन अग्रिम पर 7 वीं CPC सिफारिशों के अनुसार प्रशिक्षण के दौरान भुगतान किया जाता है एक IAS अधिकारी LBSNAA के वजीफे के रूप में प्रति माह 45,000 रुपये का हकदार होता है, जिसमें 38,500 रुपये इन-हैंड घटक है भोजन, आवासीय सुविधाओं और परिवहन के लिए 10,000 रुपये की कटौती की जाती है

IPS Full Form in Hindi?

IPS का फूल फॉर्म (Full Form)  हिन्दी मे होता है – इंडियन पुलिस सर्विस (Indian Police Service)

IPS Ka Kya kam Hota hai?

IPS भारतीय पुलिस सेवा तीन अखिल भारतीय सेवाओं में से एक है IPS अधिकारियों को हैदराबाद में सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में प्रशिक्षित किया जाता है IPS अधिकारी पुलिस सेवा में वरिष्ठ पदों पर काबिज हैं IPS अधिकारी RAW, IB, CBI आदि में वरिष्ठ पदों पर काबिज होते हैं

What is the full form of IFS in UPSC?

Full form of IFS is : Indian Foreign Service

IFS Ka kya kam Hota Hai?

IFS अधिकारी LBSNAA में अपना प्रशिक्षण शुरू करते हैं और फिर नई दिल्ली में स्थित विदेश सेवा संस्थान में चले जाते हैं। यह सबसे लोकप्रिय ग्रुप ‘A’ सिविल सेवाओं में से एक है। IFS अधिकारी भारत के विदेशी मामलों को देखते हैं

IFS अधिकारी उच्चायुक्त, राजदूत, संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि और विदेश सचिव बन सकते हैं। IFS में चयनित उम्मीदवार सिविल सेवा परीक्षा के लिए फिर से उपस्थित नहीं हो सकता है

IFS officer ki salary?

  • High Commissioner/Ambassador –  Foregin Secretary – 26,000 (Fixed)
  • Selection Grade IV – Counselor – 15,100
  • Senior Administrative Scale – Joint Secretary – 18,400
  • Junior Administrative Scale – Deputy Secretary – 12,750

IAAS Ka Full form in Hindi?

IAAS Full form – Indian Audit and Accounts Service

IAAS Ka Kya Kaam Hota Hai?

सबसे लोकप्रिय ग्रुप ‘A’ सिविल सेवाओं में से एक है। वे NAAA, शिमला में अपना प्रशिक्षण शुरू करते हैं यह संवर्ग नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (CAG) के अंतर्गत आता है यह संवर्ग केंद्र सरकार, राज्य सरकारों और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (PSUs) की वित्तीय लेखा परीक्षा करता है

ICAS Ka Full form in UPSC?

ICAS Full Form – Indian Civil Accounts Service यह संवर्ग ग्रुप ‘A’ सिविल सेवा के अंतर्गत आता है वे वित्त मंत्रालय के अधीन कार्य करते हैं इस संवर्ग का प्रमुख लेखा महानियंत्रक होता है उन्हें राष्ट्रीय वित्तीय प्रबंधन संस्थान (NIFM), फरीदाबाद और सरकारी लेखा और वित्त संस्थान (INGAF) में प्रशिक्षित किया जाता है।

ICLS Full form UPSC in Hindi?

ICLS Full Form in Hindi: The Indian Corporate Law Service (भारतीय कॉरपोरेट विधि सेवा) यह ग्रुप ‘A’ सेवा है जो कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय के तहत कार्य करती है इस सेवा का प्राथमिक उद्देश्य भारत में कॉर्पोरेट क्षेत्र को नियंत्रित करना है

परिवीक्षाधीन अधिकारियों के लिए प्रशिक्षण भारतीय कॉर्पोरेट मामलों के संस्थान (आईआईसीए) के मानेसर परिसर में स्थित ICLS अकादमी में होता है ICLS अधिकारियों को कानून, अर्थशास्त्र, वित्त और लेखा पर व्यापक प्रशिक्षण दिया जाएगा

IDAS Full form in Hindi?

IDAS Full Form -Indian Defence Accounts Service यह कैडर रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत आता है इस संवर्ग के अधिकारियों को पहले सेंट्रैड, नई दिल्ली में प्रशिक्षित किया जाता है NIFM: National Institute of Financial Management पुणे

IDAS कैडर के अधिकारी मुख्य रूप से सीमा सड़क संगठन (BRO), रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) और आयुध कारखानों में काम करते हैं इस संवर्ग का मुख्य उद्देश्य रक्षा खातों की लेखापरीक्षा करना है

इस सेवा का नेतृत्व रक्षा लेखा महानियंत्रक (CGDA) करता है और यह डीआरडीओ, बीआरओ और आयुध कारखानों के प्रमुखों के मुख्य लेखा अधिकारी के रूप में भी कार्य करता है

IDES Full form upsc hindi and english?

IDES Full Form – Indian Defence Estates Service इस संवर्ग के अधिकारियों का प्रशिक्षण राष्ट्रीय रक्षा संपदा संस्थान जो नई दिल्ली में स्थित है, में होता है। इस सेवा का प्राथमिक उद्देश्य रक्षा प्रतिष्ठान से संबंधित छावनियों और भूमि का प्रबंधन करना है।

IIS Full form upsc Hindi?

IIS Full Form – Indian Information Service, यह ग्रुप ‘A’ सेवा है जो भारत सरकार के मीडिया विंग के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार है। इस सेवा की प्राथमिक जिम्मेदारी सरकार और जनता की पर्सनल जानकारी की सुरक्षा करना है |

IAS Kaise Bane – IAS कैसे बने

आईएएस की तैयारी की यात्रा शुरू करने वाले उम्मीदवारों के पास स्वाभाविक रूप से कई सवाल और कुछ जवाब होते हैं। वे आमतौर पर सर्वश्रेष्ठ IAS कोचिंग अध्ययन सामग्री की तलाश में रहते हैं।

IAS उम्मीदवारों के सामान्य प्रश्नों में शामिल हैं:

  • मैं अपनी यूपीएससी की तैयारी कैसे शुरू करूं?
  • IAS के लिए GS की तैयारी के लिए अध्ययन सामग्री क्या हैं?
  • मैं एक वैकल्पिक कैसे चुनूं?
  • क्या इस परीक्षा को पास करने के लिए एक वर्ष पर्याप्त है?
  • जब IAS की तैयारी का सिलेबस इतना विशाल है तो मैं करंट अफेयर्स को कैसे कवर करूं?
  • यूपीएससी अध्ययन सामग्री/आईएएस अध्ययन सामग्री पीडीएफ कहां से डाउनलोड करें?
  • क्या IAS परीक्षा के लिए खुद की तैयारी इसे पास करने के लिए पर्याप्त है?

वास्तव में, तैयारी चक्र की शुरुआत में इस तरह के सवालों के जवाब नहीं देने पर 3-4 महीने का मूल्यवान अध्ययन समय आसानी से बर्बाद हो सकता है।

एक IAS अधिकारी का प्रति माह कितना वेतन होता है?

7वें वेतन आयोग के अनुसार एक आईएएस अधिकारी का मूल वेतन 56,100 रुपये है। वेतन के अलावा, एक आईएएस अधिकारी को यात्रा भत्ता और महंगाई भत्ता सहित कई अन्य भत्ते भी दिए जाते हैं। रिपोर्ट्स में कहा गया है कि एक आईएएस अधिकारी का कुल वेतन 1 लाख रुपये प्रति माह से अधिक है।

Highest post in IAS

IAS मे सबसे बड़ी पोस्ट The Cabinet Secretary की होती है

Salary of Prime Minister

भारत के प्रधान मंत्री रुपये का मासिक वेतन प्राप्त करेंगे। 1.6 लाख। उनका मूल वेतन 50,000 रुपये होगा, साथ ही रुपये का अतिरिक्त भत्ता। 3,000, रुपये का दैनिक भत्ता।

Indian president salary

अक्टूबर 2017 में, भारत सरकार ने भारत के राष्ट्रपति के वेतन को रुपये से बढ़ाने का फैसला किया। 1.5 लाख/माह से रु. 5 लाख/माह।

IAS में सबसे निचला पद कौन सा है?

अपने करियर की शुरुआत में, IAS अधिकारी अपने गृह संवर्ग के साथ जिला प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं और उसके बाद उनकी पहली पोस्टिंग होती है। उनकी प्रारंभिक भूमिका एक उप-मंडल मजिस्ट्रेट (SDM) के रूप में होती है और उन्हें एक जिला उप-मंडल का प्रभारी बनाया जाता है

दोस्तों जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं एक आईएस के ऑफिसर का पोस्ट काफी ज्यादा पावरफुल होता है अगर आप इस मुकाम तक पहुंच जाते हैं तो आपको गवर्नमेंट के द्वारा काफी बेहतरीन फैसिलिटी प्रोवाइड की जाती है । तो चलिए एक एक करके जानते हैं गवर्नमेंट के द्वारा मिलने वाली फैसिलिटी के बारे में जानते हैं

IAS officer ko milne wali suvidha

काफी लोगों के मन मे सवाल आता है के एक IAS officer ko milne wali suvidha कौन कौन सी होती है तो इसके बारे मे आपको पूरी जानकारी आपको नीचे मिलेगी

1.एक IAS ऑफिसर को गवर्नमेंट के द्वारा दो से तीन सिक्योरिटी गार्ड उनके सुरक्षा के लिए दिए जाते हैं इसके अलावा इमरजेंसी में IAS ऑफिसर अपनी और अपने घर वालों की भी सिक्योरिटी बढ़ा सकते हैं

2 . एक IAS ऑफिसर जिस भी जिले में तैनात रहते हैं अगर वहां पर कोई क्रिकेट टूर्नामेंट हो रहा है तो वहां पर इन्हें फ्री में सरकार द्वारा वीवीआइपी एंट्री भी मिलती है

3 . अगर कोई IAS ऑफिसर आगे की पढ़ाई जारी रखते हुए विदेश से उच्च शिक्षा ग्रहण करना चाहता है तो गवर्मेंट के द्वारा IAS officer को स्टडी लीव भी दिया जाता है। और विदेश में रहने खाने का सारा खर्चा सरकार ही उठाती है

4. हेल्थ बेनिफिट एक IAS ऑफिसर को बहुत सारे हेल्थ बेनिफिट भी मिलते हैं अगर कोई आईएएस ऑफिसर किसी तरह की बीमारी से ग्रसित है उन्हें अस्पताल में फ्री मेडिकल ट्रीटमेंट दिए जाते हैं इसके इलावा परिवार के लोगों को भी फ्री मेडिकल सुविधाएं दी जाती हैं

5. एक IAS के बच्चों को सेंटर सरकार द्वारा संचालित स्कूलों में 60 फीस दी रिजर्वेशन भी दिया जाता है

6. एक IAS ऑफिसर को सरकार द्वारा फ्री इंटरनेट बिजली टेलिफोन कनेक्शन और उनके घरों में बीएसएनल लैंडलाइन फोन और इंटरनेट की सेवा फ्री दी जाती है

7. रिटायरमेंट सुविधा एक IAS ऑफिसर को रिटायरमेंट पर हर तरह की बेनिफिट दिए जाते हैं जैसे के रिटायरमेंट होने पर पेंशन और पीएफ और भी कई फैसिलिटी दी जाती है

8.  IAS ऑफिसर को मुफ्त में सर्विस दौरान प्लेन में हवाई यात्रा करने की भी सुविधा होती है साथ ही साथ IPS ऑफिसर को आधिकारिक यात्रा के दौरान ट्रेन की भी फर्स्ट क्लास श्रेणी में मुफ्त में यात्रा करने की सूट होती है

9. IAS ऑफिसर को सरकारी कामों के लिए एक सरकारी वाहन भी प्रोवाइड किया जाता है जिसका सारा खर्च सरकार का होता है जैसे कि डीजल और भी टेक्निकल मेंटेनेंस इन सभी का खर्च सरकार ही करती है हालांकि इस वाहन का सिर्फ सरकारी कामों के लिए ही यूज़ किया जाता है निजी कामों के लिए यूज करने पर सरकार द्वारा सख्त मनाही होती है

10.एक IAS ऑफिसर को सरकार द्वारा सरकारी VIP क्षेत्र में सुंदर सा सरकारी घर और दो नोकर भी दिए जाता है

आज हमने आपको इस आर्टिकल मे UPSC kya hai के बारे मे बताया और इसके बारे मे पूरी जानकारी दी उमीद है आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा ऐसे ही आर्टिकल पढ़ते रहने के लिए हमारे ब्लॉग पे रोज विज़िट करे